किसानों ने किया इन पांच धान की खेती कमालिया लाखों रुपया – जानिए कौनसा है वह धान

बहुत सारे ऐसे किसान भाई हैं जो धान की खेती करने के लिए बहुत मेहनत करते हैं जो अपनी फसलों में समय-समय पर पानी भी देते हैं उनकी जमीन उपजाऊ भी है लेकिन फिर भी धान की खेती करने पर ज्यादा ध्यान उगा नहीं पाते हैं क्योंकि जो उनके धान के बीज होती है वही खराब होती है नस्ल खराब होने की वजह से अच्छे धाम नहीं होते हैं तो आज हम इसी समस्या का समाधान करते हुए आप लोगों के लिए पांच ऐसे धान के बीजों के बारे में बताएंगे जो आपको मालामाल कर देगी यह 5 वैरायटी बहुत ही ज्यादा अच्छी हैं जो 4 से 5 महीने में तैयार हो जाती हैं बाजार में इनके चावल की बहुत ज्यादा डिमांड है

धान की प्रमुख नस्लें और उनके उत्पादन का तरीका

  1. बासमती धान:
    बासमती धान एक प्रमुख नस्ल है जो अपने लम्बे, सफेद दानों के लिए जाना जाता है। इसे बोने के लिए, सबसे पहले बीजों को विशेष प्रक्रिया के माध्यम से पानी में भिगो दिया जाता है। फिर, भीगे हुए बीजों को उपयुक्त मात्रा में उपजाऊ मिट्टी में बोना जाता है। सम्पूर्ण पानी प्रबंधन और उच्च देखभाल के साथ, बासमती धान की उत्पादन क्षमता बढ़ाई जा सकती है।
  2. सोना मसूरी धान:
    सोना मसूरी धान एक प्रसिद्ध नस्ल है जो अपने स्वर्णिम रंग के दानों के लिए जाना जाता है। इसकी बोने की प्रक्रिया और उपजाऊता धान के रूप में विशेषज्ञों द्वारा सिफारिश की जाती है। उत्पादन के लिए, सोना मसूरी बीजों को ध्यानपूर्वक चुनकर पूर्व-वितरित मात्रा में उपजाऊ मिट्टी में बोना जाता है। इसके लिए उच्च गुणवत्ता वाली बीज सप्लाई की जाती है जो सोना मसूरी धान की उत्पादन क्षमता बढ़ाने में मदद करती है।
  3. ब्राउन बासमती धान:
    ब्राउन बासमती धान एक अन्य प्रसिद्ध धान नस्ल है जो अपने धान की प्राकृतिक ब्राउन रंग के लिए जाना जाता है। इसे बोने के लिए, ब्राउन बासमती बीजों को विशेष तरीके से प्रसंस्कृत किया जाता है जो उच्च गुणवत्ता और प्राकृतिकता को बनाए रखने में मदद करती है। यह धान बासमती धान की तरह ही बोना जाता है, जहां बीजों को मात्रा में उपजाऊ मिट्टी में बोना जाता है।
  4. जिरावाला धान:
    जिरावाला धान एक औद्योगिक धान नस्ल है जो अपने बहुत ही सफेद धान के लिए जाना जाता है। इसे बोने के लिए, जिरावाला बीजों को पानी में भिगोकर उपजाऊ मिट्टी में बोना जाता है। यह धान की उत्पादन क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है और एक मजबूत और सफेद धान की प्राप्ति सुनिश्चित करती है।
  5. पूसा बासमती धान:
    पूसा बासमती धान एक प्रमुख बासमती धान नस्ल है जो अपने बड़े और सफेद दानों के लिए जाना जाता है। इसे बोने के लिए, पूसा बासमती बीजों को उपजाऊ मिट्टी में बोना जाता है। उच्च गुणवत्ता और उत्पादन क्षमता के साथ, पूसा बासमती धान कृषि क्षेत्र में बहुत प्रसिद्ध है।

धान की हाइट कितनी होती है?

धान की हाइट नस्ल के आधार पर भिन्न हो सकती है, लेकिन सामान्य रूप से धान की हाइट 2-4 फीट के बीच होती है। यह उच्चतम स्तर पर अच्छी उत्पादन क्षमता के साथ विकसित होता है और महत्वपूर्ण पोषक तत्वों को धारण करने की क्षमता बढ़ाता है। तालिका के रूप में धान की हाइट नीचे दी गई है:

  1. बासमती धान: 3-4 फीट
  2. सोना मसूरी धान: 2.5-3.5 फीट
  3. ब्राउन बासमती धान: 3-4 फीट
  4. जिरावाला धान: 2.5-3.5 फीट
  5. पूसा बासमती धान: 3-4 फीट

किसान दोस्तों हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा बताए गए पांच धान की वैरायटी आपको बहुत पसंद आए होंगे अगर इससे संबंधित और भी जानकारी चाहिए तो आपको हमारी वेबसाइट पर मिल जाएगी हम आप लोगों की मदद करने के लिए ऐसे ही पोस्ट अपने व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर करते रहते हैं आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं