डीएपी यूरिया हुआ सस्ता आ गई खुशियों की लहर

Dap fertilizer price: जैसा कि दोस्तों आप सभी को पता है कि हमारे देश में यूरिया बहुत ही ज्यादा महंगा हो चुका है इन किसानों के लिए खुशखबरी आई है डीएपी का रेट औंधे मुंह गिर चुका है आइए जानते हैं कि क्या है आखिर नया रेट और किस कीमत पर मिलेगा डीएपी यूरिया आपको हर कैसे खरीद सकते हैं सस्ते में आप इस यूरिया को

आप सभी किसान भाइयों को बता दें कि धान की खेती में मुख्य रूप से डायमोनियम फॉस्फेट फर्टिलाइजर का प्रयोग किया जाता है सरकार किसानों को सस्ते में डीएपी यूरिया देने के लिए बहुत सारे कदम उठाती है लेकिन जब जाग प्रदान किया जाता है तो पता चलता है कि किसी जिले में डीएपी का रेट कुछ और है और कहीं पर कुछ और कुछ लोग ज्यादा पैसा लूट रहे हैं तो कुछ लोग ठीक-ठाक रेट पर दे रहे हैं लेकिन फिर भी किसानों को नुकसान ही हो रहा है

किसानों में छाई खुशियों की लहर क्योंकि DAP यूरिया हुआ सस्ता

आपको पता है की डीएपी यूरिया का रेट हर बाजार में अलग होता है क्योंकि यह बाजार में बेचने वाले दुकानदार किसानों को लूटते रहते हैं लेकिन सरकार ने इस समस्या का समाधान निकाल दिया है अब कोई भी किसानों से यूरिया पर ज्यादा कमीशन नहीं ले पाएगा जिससे किसानों का बहुत सारा पैसा बच जाएगा

लेकिन खबर यह आ रही है कि सरकार ने डीएपी (डायमोनियम फॉस्फेट फर्टिलाइजर) की कीमतों में बढ़ोतरी की है आइए जानते हैं कि आखिर कितने की बढ़ोतरी हुई है यूरिया के दाम में जैसा कि आपको पता है कि पिछले साल ₹150 बैक की बढ़ोतरी हुई थी लेकिन इस बार 50 किलो यूरिया की कीमत ₹425 देखने के लिए मिलेगी

यूरिया के दाम बढ़ने पर सरकार ने क्या लिया एक्शन

हाल ही में किसानों के अधिकारी शैलेश सिंह कुछ कृषि अधिकारियों के साथ में बैठकर मीटिंग किए तो उस मीटिंग में बताया गया कि यूरिया का दाम ₹274 बिक रहा है लेकिन अब से यूरिया की एक बड़ी कीमत की दाम को ₹425 कर दिया गया है यहीं पर पिछले साल के मुकाबले इस साल डीएपी यूरिया की कीमत में लगभग ₹161 की उछाल देखने के लिए मिल चुकी है

डीएपी खाद की कीमत

हम आपको बता देगी किसानों के लिए बहुत ही बड़ी खुशखबरी आई है इफको के अधिकारियों ने बताया की इस साल की गई शुरुआती लोकतांत्रिक कार्रवाई के कारण पहले एक बुरे की कीमत 1200 हुआ करती थी

उसके बाद 1200 से कीमत बढ़कर 1700 हो गई और कुछ ही समय बाद 1700 से कीमत बढ़कर ₹1900 हो गई यह देखते हुए मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने यह फसला लिया कि अगर उर्वरक की कीमत इतना ज्यादा बढ़ जाएगी तो किसान खेती करना छोड़ देंगे इसकी वजह से सरकार ने इसकी कीमत को 1200 पर ही रोक दिया है यह बहुत बड़ा फैसला है किसानों के हित में अगर डायमोनियम फॉस्फेट कीमत बढ़ती तो गेहूं चावल के दाम में भी बहुत ज्यादा बढ़ोतरी देखने के लिए मिलती है

Leave a Comment